झूठ बोलने वाले व्यक्ति को कैसे पहचाने ?

आजकल झूठ बोलना खेल हो गया है। आज के समय मे बच्चा बच्चा छोटी छोटी बातों के लिए झूठ बोल देता है और हम उसे पहचान भी नहीं पाते है। लेकिन अब ऐसा बिल्कुल नहीं होगा हम सभी आपको कुछ ऐसे तरीके बताएंगे जिससे आप पता लगा सकते है कि कौन झूठ बोल रहा है। 

झूठ बोलना कोई बड़ी बात नही है लेकिन उस झूठ को छुपाना बहुत ही मुश्किल काम होता है क्योंकि अगर आप एक झूठ बोलोगे तो उस एक झूठ को छुपाने के लिए आपको झूठ पर झूठ बोलने पडते है। जिस से आप एक झूठ के दलदल में फसते चले जाते है। इसलिए आप अपने जीवन में झूठ न बोलने की कोशिश करें। 

कुछ लोग झूठ इसलिए बोलते है क्योंकि उन्हें लगता है कोई उन्हें झूठ बोलते समय नही पकड़ेगा और ऐसा ही होता है क्योंकि अधिकतर लोगों को झूठ बोलने वाले को किसे पहचाने के बारे में नही मालूम है जिस से वह और ज्यादा झूठ बोलने लगते है। जिसके बारे में मेरा काफी दिन से ध्यान था इसलिए मैंने आज सोचा अपने सभी ब्लॉग विज़िटर को इसके बारे में बताया जाए। 

हम आज के आर्टिकल में आप सभी को कुछ ऐसे तरीके बताएंगे जिससे आप सभी लोग अपने यह आसानी से जान सकते है कि आपके सामने वाला कितना सच बोल रहा है और कितना झूठ। लोगो को लगता है झूठ पकड़ना बहुत ही मुश्किल काम है लेकिन अगर आप एक अच्छी तरह से स्टार्क रह कर जांच कर तो यह बहुत ही आसान काम है। 

लोग झूठ क्यों बोलते है?

झूठ बोलने वाले व्यक्ति को कैसे पहचाने ?झूठ बोलने का बहुत से कारण हो सकते है जिनके बारे में मैंने आप सभी को नीचे Points में दर्शाया है। आप इन्हें जरूर पढ़े।

  1. जब हम किसी मुसीबत में पड़ जाते है और हर हाल में हमारा मकसद केवल उस मुसीबत से बाहर निकलना होता है जिसके कारण हम भावुक हो जाते है और फिर झूठ बोल देते है जिस से उसे छुपाने के लिए हमे कई सारे झूठ बोलने पड़ते है। 
  2. कभी कभी हम किसी मित्र के साथ मजाक कर रहे होते है जिस से उसके साथ हम झूठ बोल देते है लेकिन वह केवल एक मजाक तक ही सीमित होता है जिस से बाद में दोनों मित्र आपस मे हस्ते है।
  3. अक्सर स्कूल में ऐसा होता है जब हम अपना ग्रह कार्य पूरा नहीं करते है तो हम अध्यापक से कह देते है कि हमसे कार्य किया है परंतु हम अपनी कॉपी लाना स्कूल में भूल गए है। 
  4. कभी कंही जाने अनजाने में हम चोरी कर लेते है जिस से हम सभी को बाद में बहुत दुख होता है और हम चाह कर भी सच नहीं बता सकते है जिस से हम उस चोरी की हुई वस्तु को छुपाने की कोशिश करते है और झूठ बोलने लग जाते है। 

यही कुछ मुख्य कारण है जिससे हम सभी लोग झूठ बोल देते है। अक्सर हम लोग झूठ नही बोलना चाहते है लेकिन प्रस्थिति ऐसी उत्पन्न हो जाती है जिस से झूठ के अलावा हमें कोई और रास्ता ही दिखाई नही देता है। जिसके रहते हम झूठ के दलदल में छलांग मार देते है। 

झूठ बोलने वाले को कैसे पहचाने?

झूठ बोलने वाले व्यक्ति को कैसे पहचाने ?अब आप सभी जिसका इंतजार कर रहे थे अब उस टॉपिक पर हम सभी आ चुके है आगे के लेख में आप सभी को में कुछ ऐसी टिप्स दूंगा जिससे आप यह पहचान सकते है कि सामने वाला झूठ बोल रहा है या नही।

सभी लोग यह सोचते है कि झूठ बोलने पर उन्हें कोई नही पकड़ सकता है लेकिन अगर हम थोड़ा होशियार रहे तो हम सभी के सामने अगर कोई झूठ बोलेगा तो तुरंत हम उसको पहचान सकते है। 

चेहरे का रंग बदल जाना

जब भी आप सभी के सामने कोई झूठ बोलेगा तो आप यह पाएंगे कि उसके चेहरे का रंग बदल जाता है। यदि आप सभी को लग रहा है कि आपके सामने वाला आप सभी से झूठ बोल रहा है तो आप उसके गालो की तरफ गौर करे और ध्यान से देखे कि उसके गालो का रंग तो लाल नहीं हुआ है। यदि ऐसा हुआ है तो सामने वाला सकस आपसे झूठ बोल रहा है। 

जब भी कोई झूठ बोलता है तो उसके मन में एक चिंता उत्पन्न हो जाती है कि कहीं में पकड़ा न जाऊ जिसके कारण उसके चेहरे के हाव भाव बदल जाते है और गाल का रंग बदल कर लाल होने लग जाता है। आप सभी गालो का रंग देख कर पता लगा सकते है कि सामने वाला झूठ बोल रहा है।

मुस्कुराते झूठ बता देती है

कहते है लोग कितना ही नकली हसने की कोशिश कर ले लेकिन ऐसा हो ही नही सकता है। कर झूठ बोलते वक़्त सामने वाला सकस मुस्कुरा कर यह जताने की कोशिस करता है कि यह एक दम सच्चा इंसान है। ऐसा वो इसलिए करता है जिस से हम अपने मन में एक चित्र बना लेते है कि वह एक दम खुश है वह झूठ नही बोल रहा है। 

अगर आप सभी को लगता है कि सामने वाला झूठ बोल रहा है तो आप सभी उसकी मुस्कान की और जरा गौर करें। उसकी आँखों की तरह अगर हस्ते वक़्त झुर्रियां नही पैड रही है तो आप यकीन करें कि वह झूठ बोल रहा है। 

जब भी हम खुल कर मुस्कुराते है तो हमारी आंखों की पास झुर्रियां दिखाई देने लगती है जिस से यह साबित होता है कि हम बिना किसी तकलीफ के मुस्कुरा रहे है। क्योकि हमारा चेहरा हमारे सारे हावभाव बता देता है इसलिए लोग चेहरा देख कर भी लोगो का झूठ पकड़ लेते है।

बोलने में लड़खड़ाना

हमारी आवाज हमारे अंदर का दर्द से ले कर खुशी को जाहिर कर देती है इसी लिए कहते है आवाज में अगर दर्द हो या खुशी वह साफ साफ पता लग जाती है। 

अगर सामने वाला आप सभी से झूठ बोल रहा होगा तो उसकी आवाज में आप सभी को अलग ही बदलाव देखने को मिलता है जैसे वह बोलते बोलते रुक जाता है या फिर हकलाने लगता है। जिस से हम यह सुनिश्चित कर लेते है कि वह झूठ बोल रहा है।

कुछ लोगो की बीमारी भी होती है जिस से वह हकलाने लगते है लेकिन अगर वह भी झूठ बोलेगा तो हमे कैसे पता लगेगा तो में आपको बता देता है अगर वह झूठ बोलेगा तो वह पहले के मुकाबले ज्यादा हकलाना सुरु कर देता है क्योंकि झूट बोलते वक़्त एक अंदर से डर उतपन होता है जो आवाज में साफ साफ झलकता है। 

झूठ बोलने बन्द कर दे- कारण जानिऍ

झूठ बोलने वाले व्यक्ति को कैसे पहचाने ?देखिए हो सकता है आप सभी इस समय झूठ बोल कर खुश हो लेकिन आप सभी यह नही जानते कि झूठ बोलने के बाद अगर आप उस झूठ को छुपाते हो तो आप सभी को कितना झूठ बोलने पड़ते है।

और आप सभी के पास एक समय ऐसा आता है जब आपके झूठ खुद ब खुद सामने आ जाते है जिस से आप सभी लोगों के पास फिर कोई रास्ता नहीं होता है। झूठ सामने आने के बाद आप सभी को सबके ताने सुन ने पड़ते है। और आप सभी को बहुत ज्यादा बदनामी भी सहनी पड़ती है। 

अगर आप शुरुआत में ही सच बोल दे और उस गलती की क्षमा मांग ले तो आप सभी उस से बच सकते है। आपने गलती कैसे की यह मायने नही रखता है मायने रखता है तो आपने उस गलती का सुधार कैसे किया। और सच बोल कर आप उस गलती का सुधार ही नहीं बल्कि आगे के लव उस गलती से पूरी तरह मुक्ति पा सकते है। 


अंतिम शब्द

झूठ बोलना बहुत ही बड़ा संकट पैदा करता है जिस से वेतमान में तो आप सभी को इसका सामना नही करना पड़ता है लेकिन भविष्य में आप सभी को इसका पूरी तरह से सामना करना पड़ता है। 

मेने आप सभी को झूठ बोलने से लेकर झूठ बोलने वाले व्यक्ति को कैसे पकड़े सभी के बारे में जानकारी दी है। आप सभी को यह लेख जरूर पसंद आया होगा आप सभी से कृपया कर अपने मित्रों के साथ यह लेख जरूर शेयर करे।  

Leave a Comment