EDI Full Form In Hindi | EDI क्या है?

यदि आप कंप्यूटर के छेत्र में काम करते है, तो आपको पता होना चाहिए कि EDI क्या है, EDI क्या काम आता है ओर EDI full form क्या होती है। EDI टेक्नोलॉजी का प्रयोग अलग अलग कंप्यूटर सिस्टम ओर अलग अलग कंप्यूटर नेटवर्को में डेटा ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है। इसके द्वारा एक कंपनी को किसी प्रकार की सूचना भेजने के लिए offline तकनीक का प्रयोग करने के बजाय ऑनलाइन नेटवर्क की सहायता ली जाती है। इसलिए अगर आप कंप्यूटर से संबंधित कार्य करते है, तो आप EDI टेक्नोलॉजी के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए। लेकिन अगर आपको EDI kya hai, EDI का मतलब क्या होता है, के बारे में पता जानकारी नही है, तो कोई बात नही है। आज हम EDI टेक्नोलॉजी के बारे में बात करने वाले है।

भारत मे EDI टेक्नोलॉजी को ecommerce बिज़नेस में सबसे ज़्यादा यूज किया जाता है। क्योंकि ecommerce कंपनियों के पास खुद का कोई प्रोडक्ट नही होता है, ऐसे में EDI तकनीक के माध्यम से आर्डर की जानकारी को प्रोडक्ट वाली कंपनियों तक पहुचाने का कार्य करती है। इस तरह से जो कंपनी प्रोडक्ट का निर्माण करती है, उस कंपनी तक मेलिंग सिस्टम के द्वारा आर्डर ओर आर्डर से संबंधित जानकारी का आदान प्रदान किया जाता है। यह हम आपको EDI क्या है , EDI के बारे में बता रहे है।

EDI Full Form In Hindi | EDI क्या है?

EDI क्या है, EDI का प्रयोग कैसे करते है

EDI की full form जानने से पहले हमें EDI टेक्नोलॉजी क्या है, ओर EDI टेक्नोलॉजी का उपयोग कैसे करते है, इन सब के बारे में जानकारी होना जरूरी है। इसका प्रमुख कार्य Electronic Data Interchange के द्वारा बिज़नेस की जानकारियों का आदान प्रदान करना है। पहले एक कंपनियों में आर्डर संबंधित कार्य offline किये जाता थे, लेकिन आज EDI के द्वारा इसको बहूत तेज प्रभाव से किया जा सकता है।

EDI full form

EDI full form को Electronic Data Interchange के नाम से जाना जााता है। इस टेक्नोलॉजी का प्रयोग ज़्यादातर E-commerce कंपनियों में किया जाता है। क्योंकि इसमें एक साथ हज़ारो कस्टमर की सूचनाओं का आदान प्रदान किया जाता है। इतने बड़े डेटा को एक साथ भेजने के लिए जिस तकनीक का प्रयोग किया जाता है, उसको शार्ट भाषा मे EDI के नाम से जाना जाता है। EDI full form को अन्य पोस्ट के लिए भी यूज में लिया जाता है, जिसके कारण लोग कन्फ्यूज्ड हो जाते है। education ओर सामान्य जानकारी में edu full form को Electronic Data Interchange के नाम से ही जाना जाता है।

हिंदी में EDI की फुल फॉर्म क्या होती है

हिंदी भाषा मे EDI की full form को इलेक्ट्रॉनिक डेटा आदान-प्रदान के नाम से पहचाना जाता है अगर सरल भाषा की बात करें तो ऑनलाइन सूचनाओं के आदान-प्रदान को ही EDI टेक्नोलॉजी के नाम से जाना चाहता है। लेकिन यह सूचनाएं कोई व्हाट्सएप फेसबुक की तरह सामान्य सूचनाएं नहीं होती है। इनमे कंप्यूटर सिस्टम और कंप्यूटर नेटवर्को मैं एक कंपनी का डाटा दूसरे कंपनी में भेजा जाता है, जहां पर प्रोडक्ट का निर्माण होता है

EDI की full form किन किन सब्दो से मिलकर बनी है।

EDI full form का निर्माण कुल तीन शब्दो से मिलकर बना है। जिसका मतलब इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से डाटा को एक या एक से ज़्यादा कंपनियों में भेजा जाता है, जिसमे कस्टमर का डेटा के बारे में जानकारियां होती है।

1. Electronic – इलेक्ट्रॉनिक को सामान्य शब्दो मे विधुतीय परिचालक घटकों से लिया जाता है। यहां पर इलेक्ट्रॉनिक वर्ड का मतलब विधुत से चलने वाला यंत्रो के लिए ही किया गया है। इलेक्ट्रॉनिक उपकार वह उपकरण होता है, जिसके माध्यम से सूचना भेजी जाती है। इन विधुतीय उपकरणों के माध्यम से सिर्फ ऑनलाइन सूचनाएं ही भेजी जा सकती है।

इसको हम उदाहरण के माध्यम से समझने का प्रयास करते है। हम सबके पास एक कंप्यूटर, लैपटॉप ओर मोबाइल फ़ोन जरूर देखने को मिलता है। हम हर रोज whatsapp, फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर अपने दोस्तों और परिवार के लोगो से मैसेज भेजकर बातचीत करते रहते है। इसमे हम जिस डिवाइस अर्थाथ उपकरण से मैसेज भजते है, उस डिवाइस को इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस बोला जाता है। इनको विधुतीय उपकरणों के नाम से जाना जाता है, हमारे घर का डिश tv मशीन, कंप्यूटर, फैन सभी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की श्रेणी में ही आते है।

एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पर सिर्फ ऑनलाइन सूचनाओं का आदान प्रदान किया जा सकता है। इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस से सूचनाओं का आदान प्रदान करने का खर्चा offline सूचनाओं के आदान प्रदान के मुकाबले काफी सस्ता, तेज, ओर सुलभ होता है।

2. Data – डेटा का प्रयोग कस्टमर की जानकारी के लिए किया जाता है। इसमे एक कस्टमर की बिज़नेस की जानकारी भी हो सकती है, ओर कस्टमर के डाक्यूमेंट्स की जानकारी भी हो सकती है। अगर हम आसान भाषा मे समझने की कोसिस करे तो , इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस से जब mailing, messages, calles आदि की द्वारा जो जानकारी पहुचाई जाती है, उसको EDI टेक्नोलॉजी में डाटा के नाम से जाना जाता है। EDI की सहायता से ecommerce प्लेटफॉर्म कस्टमर के प्रोडक्ट की जानकारी को प्रोडक्ट निर्माता कंपनियों तक भेजती है । इसको कुछ लोग EDI electronic data transfer के नाम से भी जानते है।

3. Interchange –बैंकिंग, फाइनेंस, E-commerce कंपनियों में interchange का उपयोग सूचनो के आदान प्रदान के लिए किया जाता है। जब इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की मदद से किसी  डेटा को अन्य कंपनियों में ट्रांसफर किया जाता है, तो इसमे डेटा को एक माध्यम से दूसरे माध्यम में जाने की प्रक्रिया को इंटरचार्ज का अर्थाथ सूचना के आदान प्रदान की प्रक्रिया को इंटरचार्ज के नाम से जाना जाता है।

जब हम इन तीनो शब्दो को मिलाते है , तो इसकी full form ( Electronic Data Interchange ) बनती है। इसको शार्ट भाषा मे EDI के नाम से बोला जाता है। हिंदी भाषा मे { EDI full form in hindi} EDI का मतलब इलेक्ट्रॉनिक सूचनो का आदान प्रदान करने से है।

EDI क्या है, EDI का उपयोग कैसे करते है

EDI full form से आपको EDI के बारे में अच्छे से जानकारी हो गई है। EDI एक बेहतरीन communication system है ,जिसका प्रयोग बिज़नेस में B2B के लिए किया जाता है। EDI communication में किसी प्रकार के पेपर की जरूरत नही होती है, क्योंकि इसमें सभी कार्य computer system में नोटपैड, स्प्रेड शीट, माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, एक्सेल, पॉवरपॉइंट आदि पर  किया जाता है। 1960 में एक computer to computer डेटा का ट्रांसफर किया जा सकता  था। लेकिन टेक्नोलॉजी में तेजी से बदलाव होने के कारण आज एक साथ हज़ारो प्रोडक्ट, कस्टमर, कंपनियों की information एक संगठन से एक या एक से अधिक संगठनों को कुछ ही समय मे भेजी जा सकती है।

EDI के क्या लाभ है

आज अमेज़ॉन , फ्लिपकार्ट, स्नैपडील जैसी सभी बड़ी बड़ी कंपनियां प्रोडक्ट के लिए EDI का इस्तेमाल कर रही है। क्योंकि सूचनो का आदान प्रदान करने के लिए EDI अन्य सभी संसाध्नों से बेहतर है।यहां पर हम आपको EDI तकनीक से होने वाले सभी लाभों के बारे में बता रहे है।

1 . EDI की speed – EDI के द्वारा डेटा ट्रांसफर करने की स्पीड अन्य सभी संसाध्नों के मुकाबले बहूत तेज है। EDI के द्वारा हप्तों ओर महीनों के काम कुछ समय मे ही पूरा किया जा सकता है, क्योंकि इसमें डेटा का प्रेषण ऑनलाइन कंप्यूटर और लैपटॉप के द्वारा किया जाता है। इसलिए EDI के माध्यम से डेटा का सम्प्रेषण बहूत तेजी से होता है।

2 . समय की बचत – पहले बिज़नेस में एक कंपनी से दूसरी कंपनी या प्रोडक्ट निर्माताआ कंपनियों तक डाटा पहुंचने में हफ़्तों का समय लगता था। लेकिन अब डेटा का प्रिंट, डेटा को वितरण करने का कार्य एक जगह बैठकर कंप्यूटर और इंटरनेट की सहायता से ऑनलाइन किया जाता है। ऑनलाइन डेटा का वितरण कुछ सेंड या मिनटों में पूरा किया जा सकता है। इससे हमारे समय की बचत होती है।

3. EDI में Accuracy के लाभ की जानकारी – 

EDI का सबसे बड़ा लाभ यह है, की पहले डेटा में गलतियां हो जाने पर सुधार करना मुश्किल होता था। ओर डाक्यूमेंट्स को संभालकर रखने की जिमेदारी होती थी। एक डेटा के गुम हो जाने से कंपनी को लाखों का नुकशान होता था। लेकिन EDI में आप एक डेटा को अनेक जगह सेव करके रख सकते है। EDI में गलतियां होने की गुंजाइश बहूत कम हो जाती है।

4 . EDI का सस्ता और सुलभ होना

कुछ समय पूर्व जब सूचनो का आदान प्रदान offline तरीके से किया जाता था , तो यह काफी खर्चीला होता था। इसमे समय के साथ साथ अधिक पैसे भी लगते थे। लेकिन EDI में सूचनो के सम्प्रेषण करने में दो चार मिनट का समय लगता है। इसलिए यह offiline सूचनाओं के सम्प्रेषण के मुकाबले काफी सस्ता और तेज है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने EDI full form के बारे में बताया है। अगर आप भी कोई E-commerec का बिज़नेस करते है, या अपना ऑनलाइन प्रोडक्ट का स्टोर बना रखा है , तो आपको EDI का अधिक से अधिक उपयोग करना चाहिए। क्योंकि यह अन्य सूचनाओं के आदान प्रदान करने वाले यंत्रो के मुकाबले अधिक तेज, सस्ता, ओर बढ़िया है।

सामान्य जानकारी के लिए भी आपको EDI full form in hindi के बारे में जानकारी होना जरूरी है। EDI एक ऐसा सब्द है जिसका प्रयोग अलग अलग विषयो के लिए किया जाता है। लेकिन इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में full form of EDI, EDI इन सबका मतलब Electronic Data Interchange ही होता है।

Leave a Comment