BFA कोर्स क्या है कैसे करे – BFA Course Details in Hindi

क्या आप जानते हैं कि BFA course क्या है और BFA कोर्स कैसे करते है। अक्षर जब हम 10 क्लास पास करते है, तो हमे अपना कैरियर बनाने के लिए साइंस, कॉमर्स, ओर आर्ट्स विषय मे से किसी एक विषय को चुनना जरूरी होता है। ऐसे में आपको अपने कैरियर के बारे में सोचकर सही फैसला लेना जरूरी होता है, जिससे कि आपको आगे चलकर कैरियर बनाने में किसी समस्या का सामना नही करना पड़े। अगर आप भी अपने कैरियर के बारे में सोचकर चिंतित है, तो आज हम आपको BFA कोर्स के बारे में बताने वाले है की BFA का कोर्स क्या होता है और BFA कोर्स कैसे करते है। इसमे साथ ही हम आपको BFA course detail in hindi के बारे में पूरी जानकारी बताने वाले है।

देखने मे आता है कि, ज़्यादातर लोग साइंस विषय का चुनाव करते है। क्योंकि सही जानकारी नही होने के कारण उनको लगता है, की आर्ट्स में कैरियर की संभावना कम होती है। या फिर हमारे आसपास के लोग हमें साइंस या कोमर्स लेने के लिए सजेस्ट करते है। लेकिन अगर आप भी ऐसा सोच रहे है, तो आप गलत सोच रहे है। क्योंकि आपको उसी कोर्स में एडमिशन लेने चाहिए जिसमें आपकी रुचि है । लेकिन आज हम आपको आर्ट्स के एक ऐसे कोर्स के बारे में  बताने जा रहे है, जिसमें आप अच्छा कैरियर बना सकते है ओर इस कोर्स का नाम BFA कोर्स है। अगर आप dance, पेंटिंग बनाने में रुचि रखते है, तो आप इस कोर्स को कर सकते है। हमारी इस पोस्ट में आपको BFA कोर्स क्या है । BFA कोर्स कैसे करते है। BFA course detail in hindi के बारे में पढ़कर जानकारी प्राप्त कर सकते है।

BFA कोर्स जो उन स्टूडेंट्स के लिए बनाया गया है, जिसकी रुचि फोटोग्राफर, डांस, म्यूजिकल डायरेक्टर, एनिमेटेर , ओर लेखक बनने में होती है। अगर आप BFA का कोर्स करना चाहते है, तो पहले BFA course syllabus, BFA कोर्स फीस, BFA कोर्स qualification आदि के बारे में अच्छे से पता कर लेना जरूरी है, जिससे कि हिमे BFA कोर्स करने में आसानी हो।

BFA क्या है BFA कोर्स कैसे करे – BFA course detail in hindi

BFA कोर्स एक डिग्री कोर्स होता है, जो 3 साल का कोर्स होता है। इसको हम अंडर ग्रेजुएशन कोर्स के नाम से भी जानते हैं क्योंकि यह कोर्स बीए बीकॉम और बीएसई के कोर्स की तरह ही एक कोर्स होता है।

इस कोर्स में कुल 6 सेमस्टर होते है। प्रत्येक सेमेस्टर 6 महीने का होता है। जब आप तीन साल में कुल 6 सेमेस्टर पास कर लेते है, तो आपको BFA कोर्स की डिग्री प्रदान की जाती है। अगर आप चाहो तो BFA कोर्स के बाद mfa कोर्स भी कर सकते हो। mfa कोर्स करने के बाद आपको हाई सेलेरी मिलती है।

BFA कोर्स में आपको सिंगिंग करने, डांस करने, फोटोग्राफर बनने, आर्ट टीचर बनने, म्यूजिकल टीचर बनने, एनिमेटर, ओर पेंटिंग करने के विषयों के बारे में पढ़ाया जाता है। BFA कोर्स में आपको अपनी सब्जेक्ट भी चुनने का ऑप्शन मिलता है। अगर आप चाहो तो सिंगिंग का कोर्स कर सकते हो या फिर डांसिंग करने का कोर्स कर सकते है।

BFA की फुल फॉर्म क्या होती है- BFA full form

BFA full form को bacehor of fine arts के नाम से जाना जाता है। इस कोर्स में हमे 6 सेमस्टर में ट्रेनिंग दी जाती है। अक्षर भारतीय लोगो को अंग्रेजी के वर्ड बोलने में कठिनाई होने के कारण इसको शार्ट फॉर्म BFA के नाम से बोलते है। लेकिन ज़्यादातर लोगो को इस कोर्स के बारे में पता ही नही होता है, क्योंकि भारतीय समाज मे डांसिंग, पेंटिंग, म्यूजिकल स्टडी को अन्य कुर्सेज के मुकाबले बहूत कम वैल्यू दी जाती है। लेकिन जैसे जैसे भारतीय समाज आधुनिकता की तरफ बढ़ रहा है, वैसे BFA कोर्स की वैल्यू भी बढ़ रही है। इसलिए अगर आप BFA कोर्स करनेके बारे में सोच रहे है, तो आपको यह कोर्स जरूर करना चाहिए। bachelor of fine arts से ही BFA सब्द का निर्माण हुवा है।

BFA full form in hindi

BFA full form in hindi का मतलब “ललित कला” होता है, जिसका मतलब ललित कला में स्नातक करने से लिया जाता है। इसमे आपको ललित कला में निपुण बनाया जाता है। ललित कला में आप अपने मनपसंद का विषय चुन सकते है। क्योंकि जैसे हमे बीए आर्ट्स में , हिंदी, हिस्ट्री, पोलिटिकल साइंस, पब्लिकेट, सोशलॉजी, एकॉनॉमिकस, हिंदी साहित्य, इंग्लिश आदि विषय चुनने के ऑप्शन होते है, वैसे ही आपको BFA कोर्स में डांसिंग, म्यूजिक, पेंटिंग आदि विषय चुनने का ऑप्शन दिया जाता है।  इसलिये अगर आप अपने कैरियर को लेकर चिंतित है, तो आप हमारी पोस्ट BFA course in hindi  को पूरा पढ़ते रहिए ।

BFA फुल फॉर्म की विवेचना

Bachelor of से B वर्ड की उत्पत्ति हुई है।

Fine से F सब्द बना है

Arts से A सब्द की बना है

BFA कोर्स में BFA वर्ड तीन सब्दो जो मिलकर बना है BFA की full form को हम बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स के नाम से जानते है.

BFA कोर्स कितने साल का कोर्स होता है – BFA course duraction in hindi

BFA का कोर्स बीए, बीकॉम ओर बीस के कोर्स से थोड़ा हटकर होता है, क्योंकि बीए, बीकॉम, ओर बीएससी के कोर्स  में 3 साल में तीन बार परीक्षा का आयोजन किया जाता है। लेकिन BFA के कोर्स में वार्षिक परीक्षा की जगह सेमेस्टर के हिसाब से एग्जाम लगती है। इसमे एक साल में दो सेमेस्टर होते है, ओर इस तरह तीन साल में कुल 6 सेमेस्टरों का आयोजन किया जाता है। ओर यह किसे तीन साल का कोर्स होता है।

लेकिन आपको BFA कोर्स की डिग्री लेने के लिए अपने पूरे सेमस्टर की परीक्षाओ को पास करना जरूरी होता है। अगर आपने तीन साल का कोर्स किया है, ओर आपका कोई सेमेस्टर बैक रहे गया है तो पहले आपको अपने सेमस्टर को क्लीयर करना होगा तभी आपको BFA की डिग्री दी जाएगी।

BFA course eligibilit क्या रखी गई है – BFA course kya hai

किसी भी कोर्स को करने के लिए कुछ योग्याये रखी जाती है, ओर किसी भी प्रकार का कोर्स करने के लिए अपनी योग्यताओ को पूरा करना जरूरी होता है। BFA कोर्स की तैयारी 10 क्लास से ही कर देनी चाहिए, लेकिन आप चाहो तो 12 क्लास के बाद भी इस कोर्स को कर सकते है, क्योंकि किसी भी स्टीम के विधार्थी इस कोर्स में एडमिशन ले सकते है। यहां पर हम आपको BFA कोर्स की महत्वपूर्ण आवश्यक योग्यताओ के बारे में बता रहे है।

1. BFA का कोर्स करने के लिए आपके पास 12 क्लास पास की मार्कशीट होना जरूरी है।

2. कुछ पॉपुलर कॉलेजो से BFA का कोर्स करने पर 12 क्लास में 50% से अधिक मार्क्स मांगे जाते है। इसलिए हमेशा कोसिस करे कि 12 क्लास में अधिक से अधिक नंबर प्राप्त हो।

3. अगर आप किसी बड़ी कॉलेज या यूनिवर्सिटीज से BFA का कोर्स करना चाहते है, तो आपको एंट्रेंस की परीक्षा भी पास करनी पड़ सकती है। क्योंकि हर एक यूनिवर्सिटी के अपने रूल्स होते है।

BFA कोर्स करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण BFA Entrance Exams के नाम – BFA course kaise kare

जैसा कि हमने बताया है, की BFA कोर्स की योग्यताओ के लिए हर एक यूनिवर्सिटी के अलग-अलग रूल्स देखने को मिलते हैं। लेकिन यहां पर हम आपको BFA कोर्स करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण BFA एंट्रेस एग्जाम के बारे में बता रहे है।

  1. Banaras Hindu University Entrance Examination
  2. Delhi University Entrance Exam
  3. JNAFAU Entrance Exam
  4. Jawaharlal Nehru University Entrance Exam
  5. UPES DAT
  6. JMI Entrance Exam

अगर आप इन जगहों से BFA का कोर्स करते है, तो आपको एंट्रेस परीक्षा को पास करना पड़ेगा

BFA कोर्स करने के लिए भारत में कुछ बढ़िया कॉलेज और यूनिवर्सिटीज के बारे में जानकारी – BFA course detail in hindi

आप चाहो तो बिना एंट्रेंस एग्जाम दिए भी BFA का कोर्स कर सकते है, क्युकी भारत मे ऐसी बहूत सारी यूनिवर्सिटी ओर कॉलेजस है, जो सिर्फ 12 पास करने के बाद डायरेक्ट BFA के कोर्स में प्रवेश दे देती है। लेकिन सही तरीके से प्रशिक्षण लेने के लिए जरूरी है, की सही कॉलेज से से BFA का कोर्स कर। यहां हम आपको भारत की कुछ बढ़िया कॉलेजो ओर यूनिवर्सिटियों के बारे में बता रहा हु, जहा से आप BFA का कोर्स कर सकते है।

  1. Chhatrapati Shahu Ji Maharaj University
  2. Chandigarh University
  3. Lucknow University
  4. Atal Bihari Vajpayee Hindi University
  5. NIMS university
  6. Patna University
  7. Punjab University
  8. Lovely professional University
  9. Amity University
  10. Dr. Babasaheb Ambedkar Marathwada University
  11. Mahatma Gandhi Kashi Vidyapeeth
  12. Jamia Millia Islamia University
  13. Aligarh Muslim University

अगर आप चाहते हो कि आपको BFA कोर्स के बारे में अच्छे से सिखाया जाए, जिससे कि आप अपना कैरियर बना सको तो आप इन यूनिवर्सिटियों से BFA का कोर्स कर सकते है।

BFA कोर्स की फीस कितनी होती है – BFA course fees detail in hindi

BFA कोर्स की फीस कम से कम 20 हज़ार एक सेमेस्टर से लेकर 45 हज़ार रुपये एक सेमस्टर तक हो सकती है। लेकिन अगर आपका बजट इतना नही है, तो कोई बात नही है, क्योंकि बहूत सारी कॉलेज और यूनिवर्सिटीज आपको 10000 रुपए से लेकर 20 हज़ार रुपए में एक सेमस्टर की पढ़ाई करवा देती है। इसलिए अगर आपका बजट 1.5 लाख से लेकर 2 लाख रुपये तक है, तो आप आ आसानी से BFA का कोर्स कर सकते है।

आपको हर यूनिवर्सिटीज में BFA कोर्स की फीस अलग अलग देखने को मिल सकती है, इसलिए BFA का कोर्स करने से पहले सही कॉलेज का चुनाव करना बहूत जरूरी होता है।

BFA का कोर्स किस विषय से करना चाहिए BFA में कोन कोनसे सब्जेक्ट होते है – BFA course detail in hindi

जिस प्रकार हमको बीए कोर्स में सब्जेक्ट चुनने का मोका मिलता है , वैसे ही आपको BFA का कोर्स करने में भी अलग अलग विषय चुनने का ऑप्शन मिलता है। यहां हम आपको BFA के सभी कोर्सेज के बारे में बता रहे है।

  1. Graphic Designing
  2. Illustration
  3. Photography
  4. Printmaking
  5. Music
  6. Drama & Theatre
  7. Digital Arts
  8. Calligraphy
  9. Cartooning
  10. Dance
  11. Sculpture
  12. Painting
  13. Applied Arts
  14. Plastic Arts
  15. Pottery & Ceramics
  16. Textile Design

BFA का कोर्स कैसे करे – BFA ka course kaise kare

BFA का कोर्स करने के लिए आपको अपनी जरूरी योग्यताओ को पूरा करने होता है, तभी आप BFA का कोर्स कर सकते है। अगर आप किसी बड़ी यूनिवर्सिटीज से BFA का कोर्स करना चाहते है, तो आपको इसके लिए एंट्रेस की एग्जाम को पास करना पड़ता है, तभी आपको BFA के कोर्स में एडमिशन मिलता है। लेकिन अगर आप किसी कॉलेजस या अन्य यूनिवर्सिटीज से BFA का कोर्स कर सकते है, जहा पर 12 कक्षा की मार्कशीट के आधार पर एडमिशन दिया जाता हो।

BFA कोर्स में प्रवेश लेने बहूत आसान है, लेकिन इसमे कैरियर बनाने के लिए आपको डांसिंग, पेंटिंग, फोटोग्राफर बनाने के लिए मन लगाकर मेहनत करनी होती है।

BFA का कोर्स करने के बाद जॉब कैसे प्राप्त करे 

इस कोर्स में इतने सब्जेक्ट होते है, की आप जिस सब्जेक्ट से BFA का कोर्स करते है, उसमे आपको आसानी से जॉब मिल जाता है, आजकल, तो ईंटरनेटके जमाने मे यूट्यूब जैसे प्लेटफॉर्म पर भी आप वर्क कर सकते है। यहां पर हम आपको BFA का course करने के बाद जिन फील्ड में आपको बेहतर जॉब मिल सकता है, उन सभी की लिस्ट शेयर कर रहे है।

  1. Art teacher
  2. actor
  3. singing
  4. painter
  5. script writer
  6. Multimedia master
  7. Art director
  8. Graphic designer
  9. Animator
  10. Art conversator
  11. Cartoonist

आप सभी को ऊपर दिए गए सभी Course को अच्छे से पढ़े और जब आप BFA Course को पूरी तरह कर लोगे तो आप सभी BFA का कोर्स करने के बाद इन छेत्रो में अपना कैरियर बना सकते हो।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको BFA course detail in hindi के बारे में बताया है। जिससे कि आपको BFA kya hai ओर BFA course kaise kare इन सबके बारे में जानकारी मिल सके । अगर आपके पास इस कोर्स से संबंधित कोई सवाल है, ओ आप हमे कमेंट करके पूछ सकते है।

आने वाले समय मे BFA कोर्स की मांग बहूत ज्यादा बढ़ने वाली है, इसलिए अगर आपकी इच्छा डांस करने , गाना गाने में है, तो आप इस कोर्स को कर सकते है।

अगर आपको हमारी पोस्ट  BFA course detail in hindi पसन्द आई है, तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे जिससे कि उनको भी पता चल सके कि |

Leave a Comment